क्या नरेन्द्र मोदी ही बनेंगे पुनः प्रधानमंत्री ?

क्या नरेन्द्र मोदी ही बनेंगे पुनः प्रधानमंत्री ?

भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की जन्म कुण्डली ,सोशल मीडिया आदि स्रोतों से प्राप्त जन्म तिथि 17 सितम्बर 1950 एवं समय 11:00 से 11:30am पर गुजरात के वड़ानगर में हुआ। जिसके अनुसार इनका जन्म वृश्चिक लग्न एवं वृश्चिक राशि मे हुआ है। लग्न एवं राशि का स्वामी ग्रह मंगल अपने स्वराशि का होकर लग्न में ही रूचक नामक पंच महापुरुष राजयोग का निर्माण कर रहा है। जिसके कारण मोदी जी पूर्ण मनोयोग एवं आत्म विश्वास के साथ कार्य कर पाने एवं निर्णय लेने में सफल रहते है। मंगल की स्थिति इनको मांगलिक भी बनाती है। मंगल के साथ भाग्य का स्वामी ग्रह चंद्रमा भी अपनी नीच राशि वृश्चिक में ही विद्यमान है। चंद्रमा का नीचत्व स्वगृही मंगल के साथ एक ही राशि मे होने के कारण समाप्त हो जा रहा है। फलतः यह योग मोदी को आत्म विश्वास से पूर्ण लबरेज ,प्रभाव शाली व्यक्तित्व का धनी के साथ लोगो को आकर्षित कर पाने में सहज रूप से सफल भी होते है। क्योंकि लग्नेश का स्वगृही होना एवं भाग्येश के साथ होना बड़ी बात होती है। वाणी एवं बुद्धि का कारक ग्रह गुरु कुम्भ राशि का केन्द्रवर्ती होकर राज्य भाव सिंह राशि पर दृष्टिपात कर रहा है ,जो सम्मान वृद्धि ,परिश्रम ,पद प्रतिष्ठा को बढ़ाने वाला साबित होता है। परन्तु सुख भाव कुम्भ राशि मे विद्यमान होने से व्यक्तिगत परिवारिक जीवन की क्षति भी करता है। परन्तु दशम भाव पर दृष्टि पूर्ण राजयोग प्रदाता भी साबित होता है। वर्तमान में गुरु का गोचर वृश्चिक राशि से धनु राशि जो कि गुरु की स्व राशि भी है पर हो रहा है ,वहाँ से राज्य भाव पर दृष्टि राज्य प्राप्ति की ओर इशारा भी कर रहा है। गुरु ग्रह को ब्राह्मण वर्ग का प्रतिनिधित्व करने वाला ग्रह है ,इस कारण से इस चुनाव में ब्राह्मणों का सहयोग मोदी को प्राप्त कराएगा ।साथ ही शनि एव केतु के साथ होने से गुरु के शुभत्व में कमी भी आ रही है। अतः गुरु अपना पूर्ण शुभफल प्रदान करने में सफल नही हो पायेगा। मोदी की कुण्डली में पराक्रम एवं सुख का कारक ग्रह शनि अपनी शत्रु राशि सिंह में सप्तमेश-व्ययेश शुक्र के साथ विद्यमान है जहाँ कि शनि राज्य के फल को बढ़ाने में मदद करेगा परन्तु शुक्र जो कि अकारक एवं अशुभत्व की स्थिति में विद्यमान है फलतः शनि एवं शुक्र का साथ राज्य में अवरोध की स्थिति की ओर इशारा कर रहा है । शनि निम्न अर्थात दलित वर्ग एवं शुक्र मध्य वर्ग की कुछ जातियो का प्रतिनिधित्व करती है अतः उत्तर प्रदेश में गठबंधन से मोदी को झटका लग सकता है । शुक्र के अकारक होने से ही मोदी द्वारा किये गए पिछले चुनाव के वादे पूर्ण नही हो सके जिसके कारण खूब आलोचना भी हुई। यदि शुक्र एवं शनि के अशुभत्व को कम कर लिया जाए तो बड़ी सफलता भी संभव है। एकादश स्थान आय भाव कन्या राशि मे राज्य कारक ग्रह सूर्य एवं अपनी स्व राशि कन्या का होकर बुध उच्चत्व को प्राप्त हो रहा है । बुधादित्य योग का निर्माण एकादश भाव में होना प्रसिद्धि प्रदान करने वाला है।फलतः यह योग मोदी जी को बुद्धिमान ,विचारवान ,नए तरीके से कार्य करने वाला ,सरकारी कर्मचारियों से कार्य सम्पन्न कराने में सफलता प्राप्त करने वाला ,एवं राजनैतिक सुझबुझ वाला बनाता है। इस प्रकार कुण्डली में जो समय प्राप्त हो रहा है सोशल मीडिया आदि के माध्यम से वह 11:00am से 11:30am बजे के मध्य का है। ऐसे में लग्न एवं राशि मे तो परिवर्तन नही हो रहा परन्तु महादशा-अंतर्दशा में परिवर्तन अवश्य हो रहा है। फिर भी भाग्येश की महादशा का अंतिम चरण एवं इसके बाद लग्नेश भौम की महादशा प्रारम्भ होने की स्थिति ही उत्पन्न होगी अतः ऐसी दोनी ही स्थिति में भी नरेन्द्र मोदी को ग्रह नक्षत्र एक बार फिर सर्वोच्च पद दिला पाने में सफल होंगे। जितने भी प्रमुख दलों के मुखिया है उनकी कुण्डली वर्तमान में इतनी मजबूत नही दिख रही है जितना कि नरेंद्र मोदी जी की। इसलिए बी जे पी की सरकार एवं बार फिर बन सकती है। लेकिन यदि कोई उम्मीदवार ऐसा विरोधी खेमे में आ जाये जिसकी कुण्डली ज्ञात न हो और उसकी कुण्डली के ग्रह योग मोदी जी से ज्यादा अच्छे हो तो परिणाम में अन्तर अवश्य आ सकता है। वर्तमान में जो भी प्रधानमंत्री पद दावेदार उम्मीदवार ज्ञात है उनमें मोदी जी की कुण्डली ज्यादा सफल दिख रही है। अतः मोदी जी की एक बार फिर संभावना है
✍ आचार्य डॉ प्रदीप द्विवेदी
पत्रकार, गीतकार एवं लेखक

Mysticpowernews

मिस्टिक पावर (dharmik news) एक प्रयास है धार्मिक पत्रकारिता(religious stories) में ,जिसे आगे अनेक लक्ष्य प्राप्त करने हैं सर्वप्रथम पत्रिका फिर वेब न्यूज़ और अगला लक्ष्य सेटेलाइट चैनेल ............जिसके द्वारा सनातन संस्कृति(hindu dharm,sanatan dharma) का प्रसार किया जा सके और देश विदेश के सभी विद्वानों को एक मंच दिए जा सके | राष्ट्रीय और धार्मिक समस्याओं(hindu facts,hindu mythology) का विश्लेषण और उपाय करने का एक समग्र प्रयास किया जा सके |

Mysticpowernews has 574 posts and counting. See all posts by Mysticpowernews