जाकिर नाईक के फेसबुक खाते प्रतिबंधित क्यों नहीं ?

आतंकवाद का खुलकर समर्थन और आतंकवादी विचार फैलानेवाले डॉ. जाकिर नाईक के ‘इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन’ पर 17 नवंबर 2016 को भारत में केंद्र सरकार द्वारा प्रतिबंध लगाया गया । उसके पश्‍चात भी डॉ. नाईक के भाषणों से प्रेरित होकर आतंकवादियों ने बांग्लादेश के ढाका और हाल ही श्रीलंका में विस्फोट किया है । कुछ समय पूर्व ही न्यायालय में प्रविष्ट आरोप पत्र में कहा गया है कि प्रवर्तन निदेशालय को डॉ. नाईक की 193 करोड रुपयों की अवैध संपत्ति मिली है । केरल में ‘इस्लामिक स्टेट’ के आतंकवादियों के पास जाकिर नाईक का साहित्य मिलने का दावा राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण ने किया है । इसलिए भारत सरकार का कहना है कि जाकिर नाईक राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए धोखादायक है । तब उसके स्वयं के तथा उसके संगठन ‘इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन’ के फेसबुक खातों पर सरकार ने आज तक प्रतिबंध क्यों नहीं लगाया ? फेसबुक जैसे प्रभावी सोशल मीडिया से यदि जाकिर नाईक को प्रचार करने दिया जा रहा हो, तो उस पर लगाया प्रतिबंध दिखावटी ही कहना पडेगा । हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री. रमेश शिंदे ने मांग की है कि जाकिर नाईक और उसके संगठन के फेसबुक सहित अन्य सोशल मीडिया के खातों पर भी तत्काल प्रतिबंध लगाया जाए ।
केंद्र शासन ने प्रतिबंध लगाने के पश्‍चात वर्तमान कानून के अनुसार संगठन अथवा उसके कार्यकर्ता उस संगठन के लिए कार्य नहीं कर सकते । तब भी आज भी डॉ. जाकिर नाईक के फेसबुक खाते पर 1 करोड 70 लाख तथा उनके ‘इस्लामिक रिसर्च फाऊंडेशन’ संस्था के फेसबुक पर 60 लाख अनुयायी कार्यरत हैं । हिन्दू जनजागृति समिति ने इन दोनों फेसबुक खातों पर प्रतिबंध लगाने के लिए 5 जून 2017 को केंद्रीय गृहमंत्रालय, गृहसचिव और राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग में शिकायत प्रविष्ट की थी । नई देहली में केंद्रीय गृहराज्यमंत्री श्री. हंसराज अहिरजी से प्रत्यक्ष मिलकर निवेदन भी दिया था । उसे दो वर्ष हो रहे हैं, तब भी सरकार उसपर कार्यवाही क्यों नहीं करती ?, यह हमारा प्रश्‍न है । श्री. शिंदे ने यह प्रश्‍न भी किया है कि क्या शासन बांग्लादेश और श्रीलंका के समान ही भारत में भी आतंकवादी आक्रमण होने की प्रतीक्षा कर रहा है ?
सुन्दर कुमार ( प्रधान सम्पादक )

Mysticpowernews

मिस्टिक पावर (dharmik news) एक प्रयास है धार्मिक पत्रकारिता(religious stories) में ,जिसे आगे अनेक लक्ष्य प्राप्त करने हैं सर्वप्रथम पत्रिका फिर वेब न्यूज़ और अगला लक्ष्य सेटेलाइट चैनेल ............जिसके द्वारा सनातन संस्कृति(hindu dharm,sanatan dharma) का प्रसार किया जा सके और देश विदेश के सभी विद्वानों को एक मंच दिए जा सके | राष्ट्रीय और धार्मिक समस्याओं(hindu facts,hindu mythology) का विश्लेषण और उपाय करने का एक समग्र प्रयास किया जा सके |

Mysticpowernews has 574 posts and counting. See all posts by Mysticpowernews