दुष्प्रवृत्तियों को रोकने के लिए ‘राष्ट्रीय हिन्दू आंदोलन !

दुष्प्रवृत्तियों को रोकने के लिए ‘राष्ट्रीय हिन्दू आंदोलन !

दिल्ली – विश्‍व में सर्वाधिक दूध-संकलन के लिए भारत प्रसिद्ध है । परंतु, दुर्भाग्य से आजकल यहां मिलावटी दूध बडी मात्रा में बेचा जा रहा है । पूरे देश में बेचे जानेवाले दूध और दुग्धनिर्मित पदार्थों का 68.7 प्रतिशत उत्पाद, भारतीय खाद्यान्न सुरक्षा एवं मानक अधिकरण के अनुसार शुद्ध नहीं हैं तथा उनमें डिटर्जंट पाउडर, कॉस्टिक सोडा, ग्लूकोज, श्‍वेत रंग, रिफाइन तेल आदि मिला होता है, यह जानकारी भारतीय पशु कल्याण मंडल के सदस्य मोहन सिंह अहलुवालिया के प्रतिवेदन से सामने आई थी । मुंबई के दुग्ध विक्रेता उपभोक्ताओं को लगभग ७८ प्रतिशत निकृष्ट दूध बेचते हैं, यह प्रतिवेदन ‘कन्ज्यूमर गाईडेन्स सोसायटी ऑफ इंडिया’ नामक संस्था ने राज्य और केंद्र सरकार के उपभोक्ता संरक्षण विभाग को सौंपा था । इसी प्रकार, महाराष्ट्र में २ लाख लीटर पानी की मिलावटवाला दूध बेचने की आश्‍चर्यजनक परंतु सत्य घटना होने के पश्‍चात भी सरकार और प्रशासन ने इस विषय में कुछ नहीं किया । दूध में मिलावट करना, जनता को ठगना है और मानवीय स्वास्थ्य के लिए घातक है । इसे रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है, यह प्रश्‍न करते हुए दूध में मिलावट करनेवालों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाए । इसी प्रकार, दूध उत्पादकों से मिले हुए सरकार के खाद्यान्न एवं औषध प्रशासन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाए, यह मांग हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक, सद्गुरु डॉ चारुदत्त पिंगले जी ने आज दिल्ली के जंतर मंतर पर ‘राष्ट्रीय हिन्दू आंदोलन’ को संबोधित करते समय की । इस समय सद्गुरु डॉ पिंगले जी ने ये भी कहा , इस प्रकार का दूध पीना इसी सामान है जैसे हम जहर पी रहे हों । अब जहर पीकर बीमार पीढी का निर्माण हो रहा है । ये मूलभूत विषय हैं । आज हमें ये विचार करने की आवश्यकता है कि राजनेता राष्ट्र के हित में कार्य कर रहे हैं या अपनी पार्टी के लिए । निद्रिस्त जनता देश पर बोझ है , जागृत जनता ही देश की शक्ति है।

पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल-डीजल भरने की नली पारदर्शक करने का नियम बनाएं !

दूध की ही भांति देश के अधिकतर स्थानों के पेट्रोल-डीजल के माप में ठगना, मिलावटवाला ईंधन बेचना आदि बातें खुलकर हो रही हैं । इसके पहले महाराष्ट्र और उत्तरप्रदेश के अनेक पेट्रोल पंपों में लगे ‘डिस्पेसिंग यूनिट’ में अवैधरूप से बदलाव कर माप में ठगा जाता था । इसी प्रकार, पेट्रोल में मिलावट की अनेक घटनाएं उजागर हुई हैं । ऐसी घटनाओं से उपभोक्ताओं में असुरक्षा और अविश्‍वास की भावना उत्पन्न हुई है । यह रोकने के लिए पेट्रोल पंपों पर जिस नली से पेट्रोल और डीजल वाहनों में भरा जाता है, उसे पारदर्शक कर दिया जाए । इससे उपभोक्ता देख सकेंगे कि उनके वाहन में ईंधन जा रहा है अथवा नहीं । यह मांग भी उस समय की गई । उपभोक्ताओं को माप में ठगनेवाले और ईंधन में मिलावट करनेवाले पेट्रोल पंपों के संचालकों की अनुज्ञप्ति निरस्त कर, उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें, यह भी मांग ‘राष्ट्रीय हिन्दू आंदोलन’ में की गई ।

पॉर्नसाइट, अश्‍लील और ऑनलाइन वेश्या व्यसवाय करनेवाले सूचना-जालस्थानों पर प्रतिबंध लगाएं !

देश में महिलाओं और अल्पवयस्क लडके-लडकियों पर लैगिंक अत्याचार और बलात्कार की घटनाएं बहुत बढ गई हैं । इसका प्रमुख कारण पॉर्नसाइट, अश्‍लील और ‘ऑनलाइन’ वेश्याव्यसवाय करनेवाले सूचना-जालस्थान हैं । इसी प्रकार, आजकल ‘वेब सीरीज’ भी बहुत देखी जा रही है । इसके माध्यम से भी अश्‍लीलता, अनैतिकता और आपराधिक कृत्योंवाले दृश्य बिना रोक-टोक प्रसारित हो रहे हैं । इसलिए, ऐसे समाजघाती पॉर्नसाइट, अश्‍लील और ऑनलाइन वेश्याव्यसवाय करेनवाले सूचना-जालस्थानों तथा ‘वेब सिरीज’ पर प्रतिबंध लगाया जाए, यह मांग भी इस समय की गई ।
अभिव्यक्ति स्वतंत्रता का आधार लेकर पाकिस्तान का समर्थन करनेवालों पर तुरंत कठोर कार्यवाही की जाए!

अभिव्यक्ति स्वतंत्रता के आधार पर पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाना, पाक का झंडा फहराना,

पाक के समर्थन में कार्यक्रम करना, आतंकवादी और आतंकवादी कृत्यों का समर्थन करना, देशविरोधी कृत्य करना आदि पर कठोर कार्यवाही करनेवाला कानून जम्मू-कश्मीर सहित संपूर्ण देशभर में लागू किया जाए । आतंकवादियों का समर्थन करनेवालों पर तत्काल कठोर कार्यवाही होने के लिए उन्हें दंड दिया जाए तथा उनके छायाचित्र और जानकारी समाचार पत्रों में प्रकाशित कर देशभर में जनजागृति की जाए !पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगानेवाले और उपरोक्त कृत्य करनेवालों के अभियोग शीघ्रगति न्यायालय में चलाकर उन्हें शीघ्रातिशीघ्र दंड मिलने के लिए प्रयत्न किए जाएं , ये मांग भी इस आंदोलन के माध्यम से की गई।

सुन्दर कुमार (प्रधान सम्पादक)

Mysticpowernews

मिस्टिक पावर (dharmik news) एक प्रयास है धार्मिक पत्रकारिता(religious stories) में ,जिसे आगे अनेक लक्ष्य प्राप्त करने हैं सर्वप्रथम पत्रिका फिर वेब न्यूज़ और अगला लक्ष्य सेटेलाइट चैनेल ............जिसके द्वारा सनातन संस्कृति(hindu dharm,sanatan dharma) का प्रसार किया जा सके और देश विदेश के सभी विद्वानों को एक मंच दिए जा सके | राष्ट्रीय और धार्मिक समस्याओं(hindu facts,hindu mythology) का विश्लेषण और उपाय करने का एक समग्र प्रयास किया जा सके |

Mysticpowernews has 574 posts and counting. See all posts by Mysticpowernews