श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए देशभर में ‘श्रीरामनाम का जप’ करेंगे !

श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए देशभर में ‘श्रीरामनाम का जप’ करेंगे !

यह ऐतिहासिक सत्य है कि, अयोध्या नगरी करोडों हिन्दुओं का श्रद्धास्थान है तथा प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि है । हिन्दुओं के धर्मग्रंथों में इसके अनेक प्रमाण हैं । विविध पौराणिक स्थल इसके साक्षी हैं । ऐसा होते हुए वास्तव में यह विवाद न्यायालय में जाना अपेक्षित नहीं हिन्दुओं को हिन्दुओं के श्रद्धास्थान हिन्दुस्थान में ही सिद्ध करने पड रहे हैं, यह दुर्भाग्य है । न्यायालय में पुरातत्वीय प्रमाणों के आधार पर यह पुनः सिद्ध हो चुका है तथा वर्ष 2010 में इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने ठप्पा भी लगाया है कि ‘श्रीराम जन्म भूमि प्रभु श्रीराम की ही है ।’ गत आठ वर्षों से यह विवाद सर्वोच्च न्यायालय में पडा हुआ है । हिन्दू श्रीराम मंदिर के लिए और कितनी प्रतीक्षा करेंगे ? जिस प्रकार संसारभर के मुसलमान मक्का-मदीना तथा ईसाई जेरूसलेम जाते हैं । उस प्रकार संसार भर के हिन्दुओं की श्रद्धास्थान श्रीराम जन्म भूमि में हिन्दुओं को साधारण पूजा करने की भी अनुमति नहीं है । गत अनेक वर्षों से प्रभु श्रीराम यहां कपडे के तंबू में है, एक प्रकार से यह श्रीराम का अनादर ही है । कांग्रेस शासन तो श्रीराम का अस्तित्व ही नहीं मानता, इसलिए उनसे श्रीराम मंदिर की अपेक्षा ही नहीं थी । हिन्दुत्ववादी भाजपा शासन ने उनके घोषणा पत्र में श्रीराम मंदिर का सूत्र लेकर भी गत साढे चार वर्षों में कुछ नहीं किया । लोकतंत्र का आधार स्तंभ बनी हमारी न्याय व्यवस्था कहती है कि ‘श्रीराम मंदिर हमारी प्राथमिकता नहीं है ।’ अब हमारा इनमें से किसी पर विश्‍वास नहीं रह गया है । अब प्रभु श्रीराम ही एकमात्र आधार स्तंभ रह गए हैं । इसलिए अब हम प्रभु श्रीराम से ही सामूहिक प्रार्थना करने वाले हैं । हम देशभर के हिन्दू श्रद्धालुओं को आवाहन करते हैं कि ‘श्रीराम मंदिर निर्माण का संकल्प करें और प्रभु श्रीराम को प्रार्थना करें, श्रीराम मंदिर निर्माण में आ रही विविध बाधाएं दूर करें, सरकार के मंत्रियों को श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश जारी करने का बल मिले और न्यायालय के संबधित न्यायाधीश इस प्रकरण में शीघ्र निर्णय कर पाएं ।’ अपने निकट के श्रीराम मंदिर में एकत्रित होकर सामूहिक रूप से ‘श्रीराम जय राम जय जय राम ।’ का नामजप करें । संभव हो, उस स्थान पर एकत्रित आकर मंदिरों में प्रभु श्रीराम की आरती करें ! हिन्दू जनजागृति समिति आवाहन करती है कि श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए अब प्रभु श्रीराम की कृपा संपादन करना आवश्यक है ।
मीनाक्षी सिंह ( सहसंपादक )

Mysticpowernews

मिस्टिक पावर (dharmik news) एक प्रयास है धार्मिक पत्रकारिता(religious stories) में ,जिसे आगे अनेक लक्ष्य प्राप्त करने हैं सर्वप्रथम पत्रिका फिर वेब न्यूज़ और अगला लक्ष्य सेटेलाइट चैनेल ............जिसके द्वारा सनातन संस्कृति(hindu dharm,sanatan dharma) का प्रसार किया जा सके और देश विदेश के सभी विद्वानों को एक मंच दिए जा सके | राष्ट्रीय और धार्मिक समस्याओं(hindu facts,hindu mythology) का विश्लेषण और उपाय करने का एक समग्र प्रयास किया जा सके |

Mysticpowernews has 574 posts and counting. See all posts by Mysticpowernews