जानिये क्या हैं शिव ?

जानिये क्या हैं शिव ?

शिव (१) गायत्री मन्त्र का खण्ड-गायत्री मन्त्र के ३ पाद हैं। इसके ३ पाद हैं-स्रष्टा रूप ब्रह्मा, तेज रूप में

पूरा पढें
यहां भगवान शिव से पहले पूजा जाता है रावण को

यहां भगवान शिव से पहले पूजा जाता है रावण को

झीलों की नगरी उदयपुर से लगभग 80 किलोमीटर  झाडौल तहसील में आवारगढ़ की पहाड़ियों पर शिवजी का एक प्राचीन मंदिर

पूरा पढें
जानिये यह है भगवान शिव के अवतार

जानिये यह है भगवान शिव के अवतार

आज महाशिवरात्रि का पावन पर्व है, यह पर्व हर साल फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को को  मनाया जाता

पूरा पढें
जानिये शिव प्रतिमा कितनी प्रकार की होती है

जानिये शिव प्रतिमा कितनी प्रकार की होती है

हिन्दू धर्म में मान्यता है की भगवान शिव इस संसार में आठ रूपों में समाए है जो है शर्व, भव, रुद्र,

पूरा पढें

जानिये  शिव खोडी धाम ……जहां विराजमान है सभी देवी देवता पिण्डी रूप में

जम्मू कश्मीर में अनेकों तीर्थ स्थान हैं जो अपनी विशेषता  और भक्ति भाव से ओत –प्रोत होने के कारण दूर

पूरा पढें
जानिये चन्द्रमा एवं विश्व का संबंध

जानिये चन्द्रमा एवं विश्व का संबंध

चन्द्रमा धरती का सबसे निकटतम ग्रह है I इसमें प्रबल चुम्बकीय शक्ति है I यही कारण है क़ि समुद्र के

पूरा पढें
मैक्समूलर ने वेदों में क्या विकृत किया ?

मैक्समूलर ने वेदों में क्या विकृत किया ?

निःसन्देह मैक्समूलर ने वेदों के विभिन्न विषयों पर ब्रिटिा सरकार ओर ईसाईयत के हितों की पूर्ति के लिए व्यापक साहित्य

पूरा पढें
जानिये गुरु पूर्णिमा पर खग्रास चंद्रग्रहण और सूतक

ग्रहण का प्रादुर्भाव उतराषाढ़ा जो की सूर्य का नक्षत्र है आरम्भ हो रहा है और चंद्रमा के नक्षत्र श्रवण में

पूरा पढें