वैदिक शब्दों का क्षेत्रीय स्वरूप

अरुण कुमार उपाध्याय (धर्मज्ञ)- १. शब्द और संस्था- (क) वेद संस्था-ब्रह्मा ने आरम्भ में कर्मों के अनुसार सब के नाम

पूरा पढें