प्राचीन तंत्र साहित्य

आगम ग्रंथ में साधारणतया चार पाद होते है – ज्ञान, योग, चर्या और क्रिया। इन पादों में इस समय कोई-कोई

पूरा पढें