जानिये न्यासःपरिचय और प्रयोग

जानिये न्यासःपरिचय और प्रयोग

साधना जगत में संकल्प और विनियोग के बाद बात आती है न्यास की;तत्पश्चात् ही ध्यान,पटल, कवच, स्तोत्र,हृदयादि-पाठ-जपादि का विधान है।

पूरा पढें